Saturday, August 3, 2019

BATHROOM KAISE BANAYE PURI JANKARI

बाथरूम बनाते समय इन बातो का ध्यान जरूर रखे

नमस्कार दोस्तों इस पोस्ट में हम आपको बाथरूम बनाते समय किन बातो का ध्यान रखना चाहिए इस बारे में जानकारी देने जा रहे है यदि आप अपना नया घर बना रहे है तो इस पोस्ट की जानकारी आप के काम की हो सकती है।




बाथरूम में गैस गीजर लगाना चाहते है तो ध्यान रखे की बाथरूम में पर्याप्त वेंटिलेशन हो 




सर्दियों में पानी गर्म करने के लिए घरो में अक्सर गैस गीजर और इलेक्ट्रिक गीजर का प्रयोग किया जाता है गैस गीजर इलेक्ट्रिक गीजर से बहुत सस्ता पड़ता है लेकिन गैस गीजर का यदि सही ढंग से प्रयोग नहीं किया जाये तो यह बहुत खतरनाक साबित हो सकता है गैस गीजर का प्रयोग ऐसे बाथरूम में करना चाहिए जिसमे पर्याप्त  वेंटिलेशन हो और हवा का आदान प्रदान आसानी से होता हो बिना वेंटिलेशन के बाथरूम में गैस गीजर का प्रयोग करने से बहुत सारे हादसे हो चुके है जिनमे कई लोग अपनी जान गवा चुके है। 

लोग जब बिना वेंटिलेशन के बाथरूम में नहाने जाते है तो बाथरूम का गेट बंद करने से बाहर की हवा अंदर नहीं आ पाती और जब गैस गीजर चालू किया जाता है तो गैस गीजर में लगातार गैस जलती रहती है और गैस को जलने के लिए ऑक्सीजन की जरुरत होती है गैस गीजर धीरे धीरे बाथरूम की सारी ऑक्सीजन जला देता है और बाथरूम में कार्बन डाई ऑक्साइड बढ़ती जाती है यह गंधहीन गैस होती है और नहाने वाले को पता भी नहीं चलता और वो कार्बन डाई ऑक्साइड गैस सांस में लेता रहता है और बहुत ज्यादा कार्बन डाई ऑक्साइड शरीर में जाने पर इंसान बेहोश हो जाता है और कई बार तो जान तक चली जाती है 

इसलिए गैस गीजर का प्रयोग केवल ऐसे बाथरूम में ही करना चाहिए जिसमें अच्छा खासा वेंटिलेशन हो जिससे बाथरूम में हवा का आदान प्रदान होता रहे।  यदि हम गैस गीजर की फिटिंग बाथरूम में किसी खिड़की या जाली के पास करते है जिससे उसे बहार की पर्याप्त हवा मिलती रहे तो यह सबसे अच्छा होता है। 

इसलिए बाथरूम बनाते समय इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए की यदि हम बाथरूम में गैस गीजर लगाना चाहते है तो बाथरूम में पर्याप्त वेंटिलेशन हो और हवा का आदान प्रदान होता रहे। और यदि हम बाथरूम में किसी कारणवश वेंटिलेशन नहीं रख सकते तो हमें बाथरूम में इलेक्ट्रिक गीजर का ही प्रयोग करना चाहिए।


बाथरूम में एंटी स्लिप टाइल्स लगायें 

जब हम नया घर बनाते है तो बाथरूम में भी अक्सर हम वही मार्बल या टाइल लगा लेते है जी की हम घर के फर्श में लगाते है लेकिन बाथरूम की जरुरत अलग होती है वहां पानी और साबुन का प्रयोग होता है जिससे बाथरूम का फर्श चिकना हो जाता है जिससे फिसलने का खतरा बना रहता है बाथरूम में मार्बल लगाने से वह चिकना तो होता ही है मार्बल पर गिरा हुआ पानी भी नहीं दिखता है जिससे फिसलने का खतरा बढ़ जाता है इसलिए बाथरूम में हमें एंटी स्लिप टाइल्स लगनी चाहिए एंटी स्लिप टाइल्स बाथरूम में लगाने के लिए ही बनाई जाती है इन टाइल्स पर खुरदरे पैटर्न बने होते है जिनके कारन पानी में भी पैर नहीं फिसलता।  इसलिए हमें बाथरूम बनाते समय बाथरूम के फर्श में एंटी स्लिप  प्रयोग करना चाहिए। 

यदि बाथरूम और टॉयलेट साथ बना रहे है तो ध्यान रखें 

यदि आप का बाथरूम बड़ा है और आप बाथरूम और टॉयलेट दोनों साथ बनाना चाहतें है तो आप को इस बात का ध्यान रखना चाहिए की नहाने का स्थान बाकि जगह से अलग हो आप नहाने की जगह को कांच की दिवार या शावर कर्टेन के द्वारा बाकि जगह से अलग कर सकते है जिससे नहाते समय पूरा बाथरूम गिला नहीं होता और बाथरूम में पैर फिसलने का खतरा कम हो जाता है। 

इसके अलावा जब बाथरूम में इंडियन स्टाइल टॉयलेट शीट होती है और नहाने की जगह किसी कांच की दिवार या शावर कर्टेन के द्वारा सेपरेट नहीं होती तो कई बार नहाते समय साबुन या कुछ और सामान फिसलकर टॉयलेट शीट में गिर जाते है जिससे बहुत परेशानी होती है।

इसलिए यदि हम बाथरूम और टॉयलेट एक साथ बनायें तो हमें इस बाथ का ख्याल रखना चाहिए की बाथरूम में नहाने का स्थान बाकि बाथरूम से किसी कांच की दिवार या शावर कर्टेन के द्वारा सेपरेट हो।

बाथरूम में गीजर की फिटिंग कराते समय ध्यान रखें 

बाथरूम में गीजर की फिटिंग करते समय यह ध्यान रखना चाहिए की गीजर से निकलने वाला गर्म पानी का पाइप लम्बाई में कम से कम हो क्योकि जब गर्म पानी का पाइप जायदा लम्बा होता है तो उसमे पानी जल्दी ठंडा हो जाता है क्योकि पाइप बाथरूम की दिवार में दबा होता है और दिवार पाइप के द्वारा पानी की सारी गर्मी सोख लेती है जिससे पानी जल्दी ठंडा हो जाता है और बिजली की खपत बढ़ जाती है  इसलिए हमें गीजर की फिटिंग टोंटी के पास ही करनी चाहिए जिससे गर्म पानी का पाइप ज्यादा लम्बा न हो। इसके अलावा हमें हो सके तो गीजर से आने वाले गर्म पानी के पाइप को इंसुलेट करके दिवार में लगाना चाहिए। 

बाथरूम में एग्जॉस्ट फैन जरूर लगाए 



आजकल के घरो के बाथरूम में एग्जॉस्ट फैन का होना बहुत जरुरी होता है एग्जॉस्ट फैन बाथरूम  की बदबूदार हवा को बहार फेंकता है और बाहर की साफ़ हवा बाथरूम के अंदर खींचता है इससे बाथरूम का वातावरण शुद्ध बना रहता है इसके अलावा गर्मियों के मौसम में बाथरूम में बहुत गर्मी हो जाती है जिससे बहुत पसीना होता है और बाथरूम में कुछ देर रहना भी मुश्किल हो जाता है उस समय एग्जॉस्ट फैन बहुत काम आता है एग्जॉस्ट फैन बहार से हवा खींच कर बाथरूम को ठंडा बनाये रखता है। लेकिन बहुत से लोग जब बाथरूम बनाते है तो उन्हें ध्यान भी नहीं होता की बाथरूम में एग्जॉस्ट फैन भी लगाना चाहिए पर एक बार बाथरूम बन जाने के बाद जब उन्हें ध्यान आता है तब वे कुछ नहीं कर पते क्योकि एग्जॉस्ट फैन के लिए पहले से ही जगह छोड़ी जाती है उसके लिए वायरिंग की जाती है स्विच लगाए जाते है। इसलिए बाथरूम बनाते समय हमें एग्जॉस्ट फैन का विचार पहले से ही कर लेना चाहिए और उसके हिसाब से दिवार में जगह छोड़ देनी चाहिए जिससे बाद में हमें किसी तरह की दिक्कत न हो। 

बाथरूम के स्विच बोर्ड  सुविधाजनक और सुरक्षित स्थान पर लगाए 

बाथरूम बनाते समय इस बात का ध्यान रखना चाहिए की बाथरूम के सभी स्विच बोर्ड ऐसे स्थान पर हों जहां से उन तक आसानी से पंहुचा जा सके। कई जगह यह देखा जाता है की बाथरूम में लाइट का स्विच बाथरूम में अंदर जाकर दूसरी दिवार पर होता है जिससे रात को बहुत परेशानी हो जाती है रात को अँधेरे में जाकर लाइट जलानी पड़ती है जिससे अँधेरे में किसी सामान से टकराकर गिरने का भय बना रहता है यदि घर में बड़े बुजुर्ग हो तो उन्हें बहुत परेशानी होती है इसलिए बाथरूम की लाइट का स्विच बाथरूम के बहार गेट पर ही होना चाहिए जिससे बाथरूम के अंदर जाने से पहले ही लाइट जलाई जा सके इसके अलावा बाथरूम में एग्जॉस्ट फैन, गीजर और अन्य स्विच बाथरूम ऐसी जगह पर होने चाहिए जहाँ से उन पर शावर का पानी न गिरे या फिर उन पर नहाते समय पानी के छींटे न गिरे। 

बाथरूम की कुंदी छोटे बच्चों की पहुँच से ऊपर लगाएं 

छोटे बच्चे सभी के घरो में होते है कई बार वो खेल खेल में बाथरूम की कुंदी अंदर से बंद कर लेते है और फिर वो उसे खोल नहीं पते जिससे बहुत दिक्कत हो जाती है फिर हमें किसी को बुलाकर दरवाजे को तोडना पड़ता है इसलिए बाथरूम बनाते समय इस बात का ध्यान रखना चाहिए की  बाथरूम की कुंदी छोटे बच्चो की पहुँच से ऊपर लगी हो।


बाथरूम सम्बंधित कुछ अन्य महत्वपूर्ण बातें 

  • कई घरो में यह देखा जाता है की बाथरूम में छोटी और कम रौशनी वाली लाइट का प्रयोग किया जाता है जो की बहुत गलत होता है। बाथरूम में साबुन तथा पानी का प्रयोग होता है जिससे बाथरूम का फर्श गिला और चिकना होता है और कम रौशनी के कारन बाथरूम के फर्श पर फैला हुआ पानी दिख नहीं पता जिससे कई बार पैर फिसलने की संभावनाएं बहुत बढ़ जाती है इससे बचने के लिए हमें बाथरूम में भरपूर रौशनी की लाइट प्रयोग करनी चाहिए। 
  • बाथरूम में सभी भीतरी दीवारों पर 6 फ़ीट तक टाइल्स लगनी चाहिए जिससे पानी के द्वारा दीवारें ख़राब नहीं होती और सीलन नहीं आती।  
  • बाथरूम बनाते समय यह ध्यान रखना चाहिए की बाथरूम का गेट बाथरूम के अंदर ही खुले क्योकि बाथरूम का गेट बाहर खुलने से यह सभी के रस्ते में आता है और जगह घेरता है तथा बाथरूम के बहार पायदान रखने में भी दिक्कत आती है इसके अलावा नहाते समय यदि किसी से गेट खोल कर कुछ लेना हो तो भी बाथरूम का गेट बहार खुलने से बहुत परेशानी होती है। 
  • यदि बाथरूम में इंडियन स्टाइल टॉयलेट शीट है तो टॉयलेट शीट के पास हैंडल बार जरूर लगाने चाहिए जिससे उसे पकड़ कर खड़े होने में आसानी होती है। 

इस पोस्ट में हमने बाथरूम बनाने सम्बंधित जानकारी सरल शब्दों में देने की कोशिश की है यदि इस पोस्ट की जानकारी आपको पसंद आई इसे अपने दोस्तों से साथ जरूर शेयर करे।  इस पोस्ट को पूरा पढ़ने के लिए धन्यवाद्।

धन्यवाद्
ज्ञान और जानकारी
www.gyanorjankari.in  


3 comments:

  1. Thanks for sharing this article here about the bathroom Vastu. Your article is very informative and I will share it with my other friends as the information is really very useful. Keep sharing your excellent work.

    ReplyDelete
  2. wonderful information for a new blogger…it is really helpful to look the direction of houseVastu consultant in Hyderabad

    ReplyDelete