विटामिन के प्रकार और उनके उपयोग - GYAN OR JANKARI

Latest

Sunday, December 29, 2019

विटामिन के प्रकार और उनके उपयोग

विटामिन के प्रकार और उनके उपयोग 


विटामिन क्या होता है 

विटामिन ऐसे पोषक तत्व होते है जिनकी हमारे शरीर को ठीक से काम करने के लिए सूक्ष्म मात्रा में आवश्यकता होती है, विटामिन खाद्य पदार्थो में भी सूक्ष्म मात्रा में पाए जाते है, इसलिए इन्हे माइक्रोनुट्रिएंट (Micronutrient) की श्रेणी में रखा जाता है. विटामिन हमारे शरीर की वृद्धि और विकास के लिए अत्यंत आवश्यक होते है, विटामिन हमारे शरीर में उत्प्रेरक (Catalytic) और नियामक (Regulatory) की तरह काम करते है, तथा ये शरीर की कोशिकाओं में महत्वपूर्ण रासायनिक प्रतिक्रियाओं को नियंत्रित करते है, और उन्हें सुविधाजनक बनाते है, विटामिन हमारे शरीर में कई अन्य पोषक तत्वों के अवशोषण में भी सहायक होते है, हमारे लिए आवश्यक विटामिन्स की संख्या 13 है इन सभी 13 विटामिनो का शरीर में अलग अलग कार्य होता है तथा ये शरीर में अलग अलग क्रियाओ को नियंत्रित करते है, शरीर में किसी भी विटामिन की कमी होने पर उस विटामिन की क्रिया से सम्बंधित रोग हो जाते है।  इसी प्रकार शरीर में किसी विटामिन की अधिकता होने पर भी उससे सम्बंधित रोग हो जाते है, इसलिए किसी भी विटामिन को संतुलित मात्रा में लेना अत्यंत आवश्यक होता है। 

Vitamins-uses-in-Hindi, विटामिन-के-प्रकार-और-उनके-उपयोग,
विटामिन के प्रकार और उनके उपयोग

विटामिन के प्रकार 

विटामिन दो प्रकार के होते है :- (1 ) वसा में घुलनशील विटामिन्स (Fat Soluble Vitamins) (2)  जल में घुलनशील विटामिन्स (Water Soluble Vitamins)। 
 

वसा में घुलनशील विटामिन और उनके उपयोग  

विटामिन A , D, E, K वसा में घुलनशील कुल 4 विटामिन्स होते है, ये विटामिन्स पानी में नहीं घुलते इसलिए जब हमारे द्वारा इन विटामिन्स को ग्रहण किया जाता है, तो हमारी आवश्यकता के अतिरिक्त विटामिन्स हमारे शरीर में वसा उत्तकों (Fatty Tissues) और लिवर में स्टोर हो जाते है, तथा जब हमारे भोजन में इन विटामिन्स की कमी होती है, तब हमारा शरीर इन स्टोर किये हुए विटामिन्स का उपयोग कर लेता है, इस प्रकार हमें इन विटामिन्स की लगातार पुर्ति होती रहती है। 
 

विटामिन  A 

विटामिन A वसा में घुलनशील विटामिन होता है यह हमारे शरीर में हड्डियों के विकास, स्वस्थ दांत, आँखों की दृष्टि, श्लेष्मा झिल्ली, प्रजनन क्षमता तथा त्वचा के उत्तको के रखरखाव और विकास में सहायक होता है। 

विटामिन

विटामिन D विटामिन डी वसा में घुलनशील विटामिन होता है, यह एकमात्र ऐसा विटामिन है जो सूरज की धुप के संपर्क में आने पर हमारे शरीर द्वारा बनाया जाता है, खाद्य पदार्थो से विटामिन डी प्राप्त करना बहुत कठिन होता है इसलिए ऐसे लोग जो धुप वाले स्थानों पर नहीं रहते तथा जो धुप के अधिक संपर्क में नहीं आते उनमे विटामिन डी की कमी हो सकती है। रोज केवल 15 मिनट धुप में बिताने से हमारे शरीर में पर्याप्त विटामिन डी बन जाता है। विटामिन डी हमारे शरीर में Calcium कैल्शियम के अवशोषण में सहायक होता है इसलिए हमारे शरीर में दांतो और हड्डियों के सामान्य विकास के लिए विटामिन डी आवश्यक होता है। विटामिन डी हमारे रक्त में कैल्शियम और फास्फोरस के उचित स्तर को बनाये रखने के लिए भी अत्यंत आवश्यक होता है। 
 

विटामिन

विटामिन E वसा में घुलनशील विटामिन होता है, यह एक एंटीऑक्सीडेंट होता है, यह हमारे शरीर में कोशिकाओं को नुक्सान पहुंचने वाले फ्री रेडिकल्स को नस्ट करता है तथा यह हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ता है। हमारे शरीर को कोशिकाओं को आपस में संपर्क करने के लिए विटामिन E की आवश्यकता होती है इनके अलावा विटामिन E हमारे शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। 
 

विटामिन K

विटामिन K वसा में घुलनशील विटामिन होता है, यह हमारे शरीर में खून का थक्का ज़माने का कार्य करता है जब हमारे शरीर पर खरोंच या घाव के कारण खून निकलने लगता है तब विटामिन K के कारन ही खून का थक्का बनता है और खून का बहाना रुक जाता है। 
 

जल में घुलनशील विटामिन और उनके उपयोग  

जल में घुलनशील कुल 9 विटामिन होते है, ये विटामिन शरीर द्वारा बहुत ही कम मात्रा में स्टोर किये जाते है तथा हमारी दैनिक जरुरत के अतिरिक्त विटामिन्स यूरिन द्वारा हमारे शरीर से बाहर निकल जाते है, इसलिए जल में घुलनशील विटामिन्स की कमी से बचने के लिए हमें इन्हे नियमित रूप से ग्रहण करना पड़ता है। केवल विटामिन B12 ही ऐसा एकमात्र जल में घुलनशील विटामिन होता है जो हमारे लिवर में स्टोर होता है और लम्बे समय तक शरीर द्वारा उपयोग में लाया जा सकता है।

विटामिन B1 (Thiamine)

विटामिन बी1 जल में घुलनशील विटामिन होता है, यह हमारे शरीर में कार्बोहाइड्रेट्स को ऊर्जा में बदलने का कार्य करता है, यह ग्लूकोस के चयापचय के लिए भी आवश्यक होता है। विटामिन बी1 तंत्रिका तंत्र, मांसपेसियों तथा हृदय के क्रियान्वन तथा स्वस्थ्य के लिए अत्यंत आवश्यक होता है।

विटामिन B2 (Riboflavin)

विटामिन बी2 जल में घुलनशील विटामिन होता है, यह हमारे शरीर में प्रोटीन, वसा तथा कार्बोहाइड्रेट्स को ATP अणुओ में बदलकर ऊर्जा उत्पादन करने में सहायक होता है, यह शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं के उत्पादन में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। 
 

विटामिन B3 (Niacin)

विटामिन बी3 जल में घुलनशील विटामिन होता है यह हमारे द्वारा ग्रहण किये गए भोजन को ऊर्जा में बदलने का कार्य करता है तथा यह हमारे शरीर में पाचन तंत्र, तंत्रिका तंत्र, मस्तिष्क, तथा त्वचा के अच्छे स्वास्थ्य के लिए आवश्यक होता है।

विटामिन B5 (Pantothenic acid)

विटामिन बी5 भी शरीर में कार्बोहाइड्रेट्स, प्रोटीन, तथा वसा को ऊर्जा में परिवर्तित करने का काम करता है तथा यह रक्त कोशिकाओं को बनाने में सहायक होता है, इनके अलावा यह हार्मोन तथा कोलेस्ट्रॉल निर्माण में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। 
 

विटामिन B6 (Pyridoxine)

विटामिन बी6 तंत्रिका तंत्र और मस्तिष्क के स्वस्थ्य के लिए आवश्यक होता है यह शरीर में प्रोटीन को हमारे शरीर के लिए उपयोगी बनता है, जितना ज्यादा प्रोटीन हम खाते है उसको शरीर के लिए उपयोगी बनाने के लिए हमें उतना अधिक विटामिन बी 6 की जरुरत होती है, इसके अलावा यह त्वचा और लाल रक्त कोशिकाओं को स्वस्थ बनाये रखता है। 
 

विटामिन B7 (Biotin)

विटामिन बी 7 शरीर में पोषक तत्वों के द्वारा ऊर्जा उत्पादन में सहायक होता है, तथा यह त्वचा, बाल और नाख़ून के अच्छे स्वास्थ्य के लिए भी आवश्यक है  इनके अलावा यह भ्रूण के सामान्य विकास के लिए भी आवश्यक होता है। 
 

विटामिन B9 (Folate)

विटामिन बी 9 डीएनए बनाने के लिए आवश्यक होता है, डीएनए के द्वारा ही उत्तको का विकास और कोशिकाओं के कार्य नियंत्रित होते है इसलिए गर्भवती महिलाओं के लिए यह अत्यंत आवश्यक विटामिन होता है, इसकी कमी होने पर जन्म सम्बंधित दोष हो सकते है, इसके अलावा विटामिन बी 9 विटामिन बी 12 के साथ मिलकर लाल रक्त कोशकाओ के निर्माण में भी सहायक होता है। 
 

विटामिन B12 (Cobalamin)

विटामिन बी 12 भी शरीर में पोषक तत्वों द्वारा ऊर्जा उत्पादन में सहायक होता है इसके अलावा यह DNA और लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण और तंत्रिका तंत्र के स्वास्थ्य के लिए आवश्यक होता है। 
 

विटामिन

विटामिन C शरीर में Iron आयरन के अवशोषण में सहायक होता है विटामिन C त्वचा, टेंडन, और रक्त वाहिकाओं के निर्माण में सहायक होता है, यह हड्डियों, दांतो, और मसूड़ों के अच्छे स्वास्थ्य के लिए आवश्यक होता है,  यह घाव जल्दी भरने में भी मदद करता है। 

No comments:

Post a Comment