Tuesday, December 29, 2020

थोरियम के गुण, उपयोग और रोचक जानकारी Thorium In Hindi

 थोरियम के गुण, उपयोग और रोचक तथ्य

Thorium-in-Hindi, Thorium-Properties-uses-and-facts-in-Hindi
 थोरियम के गुण, उपयोग और रोचक जानकारी

परिचय 

थोरियम एक रेडियोएक्टिव धातु है, तथा रासायनिक रूप से यह एक तत्व है। थोरियम सिल्वर रंग की चमकदार धातु होती है।  थोरियम का सिम्ब्ल Th, इसकी परमाणु संख्या 90 और इसका परमाणु भार 232.038 होता है। थोरियम के परमाणु में 90 इलेक्ट्रान, 90 प्रोटॉन, 142 न्यूट्रॉन और 7 एनर्जी लेवल होते है। थोरियम का घनत्व 11.72 ग्राम प्रति घन सेंटीमीटर होता है। सामान्य तापमान पर थोरियम ठोस अवस्था में पाया जाता है, इसका गलनांक (पिघलने का तापमान) 1750 डिग्री सेल्सियस (3182 डिग्री फेरेनाइट) और इसका क्वथनांक (उबलने का तापमान) 4790 डिग्री सेल्सियस (8654 डिग्री फेरेनाइट) होता है। आवर्त सारणी (Periodic Table) में थोरियम ग्रुप Actinides, पीरियड 7 और ब्लॉक F में स्थित होता है। 


थोरियम की खोज 1828 में स्वीडिश रसायनशास्त्री (केमिस्ट) जोन्स जैकब बर्जेलिउस (Jons Jacob Berzelius) ने की थी। 

Thorium in Hindi, thorium-ke-gun-upyog-or-rochak-tathy
Thorium in Hindi 

थोरियम के गुण 

  • थोरियम सिल्वर-सफ़ेद रंग की चमकदार धातु होती है। 
  • हवा के संपर्क में आने पर थोरियम के ऊपर ग्रे रंग की ऑक्साइड की परत जम जाती है, जो धीरे-धीरे काली हो जाती है। 
  • हवा की उपस्थिति में थोरियम को गर्म करने पर यह सफ़ेद रंग की अत्यंत तेज रौशनी के साथ जलने लगता है।  
  • थोरियम अल्प रेडियोएक्टिव धातु होती है। 
  • थोरियम हाइड्रोक्लोरिक एसिड में घुल जाता है। 
  • थोरियम पाउडर के रूप में अत्यंत ज्वलनशील होता है। 
  • थोरियम डक्टाइल धातु होती है, इसलिए इससे पतले तार बनाये जा सकते है। 
  • थोरियम ऑक्साइड का गलनांक 3300 डिग्री सेल्सियस होता है, जो सभी ऑक्साइडस में सबसे अधिक होता है। 
  • थोरियम के गलनांक और क्वथनांक तापमान में बहुत अधिक अंतर होता है। 
  • थोरियम में थोड़ी भी अशुद्धि होने पर इसके गलनांक और क्वथनांक तापमान में बहुत अधिक अंतर आ जाता है। 

थोरियम के उपयोग 

  • थोरियम का उपयोग मैग्नीशियम के साथ मिश्र धातु के रूप में किया जाता है, थोरियम के कारण मैग्नीशियम उच्च तापमान पर भी मजबूती बनाये रखता है। 
  • थोरियम उपयोग परमाणु ऊर्जा उत्पादन के लिए किया जा सकता है। 
  • थोरियम डाईऑक्साइड का उपयोग उच्च गुणवक्ता वाले कैमरा के लेंस बनाने में किया जाता है।
  • थोरियम ऑक्साइड का उपयोग उच्च तापमान वाले क्रूसिबल बनाने के लिए किया जाता है। 
  • थोरियम का उपयोग इलेक्ट्रिक उपकरणों में उपयोग होने वाले टंगस्टन वायर के ऊपर कोटिंग करने के लिए किया जाता है। 
  • पुराने समय में थोरियम डाइऑक्सइड का उपयोग गैस लालटेन में रौशनी के लिए किया जाता था। 
  • थोरियम का उपयोग होमिनिड जीवाश्मों की तिथि ज्ञात करने के लिए किया जाता है। 
  • थोरियम-232 पर न्यूट्रॉन की बौछार करके थोरियम-233 बनाया जाता है, उसके बाद थोरियम-233 धीरे-धीरे परिवर्तित होकर यूरेनियम-233 में बदल जाता है। यूरेनियम-233 एक विखंडनीय सामग्री होती है, जिसका उपयोग परमाणु ईंधन के रूप में किया जा सकता है। 
  • थोरियम ऑक्साइड का उपयोग सल्फ्युरिक एसिड के उत्पादन में, पेट्रोलियम उत्पादों के टूटने में तथा अमोनिया से नाइट्रिक एसिड के उत्पादन में उत्प्रेरक के रूप में किया जाता है।  

थोरियम के रोचक तथ्य 

  • जब थोरियम के रेडिओएक्टिव गुणों का पता नहीं चला था, तब तक थोरियम का उपयोग टूथपेस्ट में किया जाता था। 
  • थोरियम धरती पर प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है, थोरियम यूरेनियम की तुलना में लगभग तीन गुना अधिक पाया जाता है। 
  • दुनिया में सबसे अधिक थोरियम के भंडार भारत में पाए जाते है। 
  • भारत दुनिया में अधिक थोरियम का उत्पादन करने वाला देश है। 

No comments:

Post a Comment