नाइट्रोजन (Nitrogen) गैस के गुण, उपयोग और रोचक जानकारी Nitrogen in Hindi

नाइट्रोजन (Nitrogen) गैस के गुण, उपयोग और रोचक जानकारी Nitrogen in Hindi

 

नाइट्रोजन (Nitrogen) गैस का परिचय 

नाइट्रोजन एक गैस है, इसका वर्गीकरण अधातु के रूप में किया जाता है, तथा रासायनिक रूप से नाइट्रोजन एक तत्व है। नाइट्रोजन सामान्य तापमान पर गैस अवस्था में पायी जाती है, इसका गलनांक (पिघलने का तापमान) -210 डिग्री सेल्सियस (-346 डिग्री फेरेनाइट) होता है, तथा इससे कम तापमान पर नाइट्रोजन गैस ठोस अवस्था में पायी जाती है। नाइट्रोजन का क्वथनांक (उबलने का तापमान) -195.79 डिग्री सेल्सियस (-320.42 डिग्री फेरेनाइट) होता है। नाइट्रोजन का घनत्व 1.25 ग्राम प्रति 1000 घन सेंटीमीटर होता है। नाइट्रोजन का सिंबल N होता है, तथा इसकी परमाणु संख्या 7 और इसका परमाणु भार 14.0067 amu होता है। नाइट्रोजन के परमाणु में 7 इलेक्ट्रान, 7 प्रोटॉन, 7 न्यूट्रॉन और 2 एनर्जी लेवल पाए जाते है, तथा  आवर्त सारणी (Periodic Table) में नाइट्रोजन, ग्रुप 15, पीरियड 2 और ब्लॉक् P में स्थित होता है। 

 

नाइट्रोजन की खोज 1772 में स्कॉटिश फिजिशियन डेनियल रुदरफोर्ड (Daniel Rutherford) ने की थी।

Nitrogen-ke-gun, Nitrogen-ke-upyog, Nitrogen-ki-Jankari, Nitrogen-information-in-Hindi, Nitrogen-uses-in-Hindi, नाइट्रोजन-के-गुण, नाइट्रोजन-के-उपयोग, नाइट्रोजन-की-जानकारी
Nitrogen in Hindi

 

नाइट्रोजन (Nitrogen) गैस के गुण 

Nitrogen-ke-upyog, Nitrogen-ki-Jankari, Nitrogen-information-in-Hindi, Nitrogen-uses-in-Hindi, नाइट्रोजन-के-गुण, नाइट्रोजन-के-उपयोग, नाइट्रोजन-की-जानकारी
Nitrogen Properties in Hindi
  • नाइट्रोजन रंगहीन और गंधहीन गैस होती है। 
  • तरल अवस्था में नाइट्रोजन गैस पानी के समान दिखाई देती  है। 
  • -210 डिग्री सेल्सियस से कम तापमान पर नाइट्रोजन गैस ठोस अवस्था में परिवर्तित हो जाती है, ठोस अवस्था में नाइट्रोजन सफ़ेद रंग की बर्फ के सामान दिखाई देती है।  

  • नाइट्रोजन के दो परमाणु आपस में प्रतिक्रिया करके नाइट्रोजन का एक अणु N2 बना लेते है, इस अवस्था में नाइट्रोजन गैस बहुत हद तक निष्क्रिय गैस होती है।  
  • नाइट्रोजन साधारण तापमान और दबाव पर हाइड्रोजन, ऑक्सीजन और अधिकांश तत्वों से प्रतिक्रिया नहीं करती। 
  • नाइट्रोजन गैस अल्प मात्रा में जल में घुलनशील  होती है। 
  • वायुमंडल में उपस्थित नाइट्रोजन और ऑक्सीजन विधुत स्पार्क की उपस्थिति में नाइट्रोजन ऑक्साइड बनाते है।  

👉आवर्त सारणी के सभी तत्वों की हिंदी में विस्तृत जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें,  (Click here for detailed information on Periodic Table Elements in Hindi)

 

नाइट्रोजन (Nitrogen) गैस के उपयोग 

  • नाइट्रोजन का सबसे अधिक उपयोग अमोनिया (NH3) के उत्पादन में किया जाता है, इस प्रक्रिया में नाइट्रोजन गैस को हाइड्रोजन गैस के साथ जोड़ा जाता है। 
  • अमोनिया का उपयोग बड़ी मात्रा में उर्वरक, नाइट्रिक एसिड और विस्फोटक बनाने में किया जाता है। 
  • नाइट्रोजन निष्क्रिय गैस है इसलिए इसका उपयोग सेमीकंडक्टर इंडस्ट्री में और कुछ विशेष प्रकार की वेल्डिंग के समय प्रोटेक्टिव शील्ड के रूप में किया जाता है। 
  • तेल कम्पनियाँ कच्चे तेल को सतह पर लाने के लिए उच्च दबाव की नाइट्रोजन गैस का प्रयोग करती है। 
  • तरल नाइट्रोजन एक सस्ती क्रायोजनिक रेफ्रिजरेंट होती है, इसलिए इसका उपयोग जैविक नमूनों के संरक्षण, खाद्य पदार्थो को तेजी से फ्रीज करने और भंडारण करने में, तथा अत्यधिक कम तापमान पर वैज्ञानिक प्रयोग करने में किया जाता है। 
  • नाइट्रोजन का उपयोग निष्क्रिय वातावरण बनाने के लिए किया जाता है। 
  • इलेक्ट्रॉनिक्स इंडस्ट्री में नाइट्रोजन का उपयोग इंटीग्रेटेड सर्किट, ट्रांजिस्टर और डायोड के उत्पादन में किया जाता है। 
  • स्टील उत्पादन के समय नाइट्रोजन के वातावरण का उपयोग स्टील की एनिलिंग के लिए किया जाता है। अत्यधिक गर्म स्टील को नियंत्रित वातावरण में धीरे-धीरे ठंडा किया जाता है, जिससे स्टील अधिक हार्ड नहीं होता और उस पर काम करना आसान होता है, इस प्रक्रिया को एनिलिंग कहा जाता है।   

  • नाइट्रोजन का उपयोग ऐतिहासिक दस्तावेजों को सुरक्षित रखने के लिए भी किया जाता है। साधारण हवा में दस्तावेजों को रखने पर दस्तावेजों की स्याही और कागज ऑक्सीजन गैस से प्रतिक्रिया करते है जिससे उनका क्षय होने लगता है। इसलिए ऐतिहासिक दस्तावेजों को नाइट्रोजन गैस से भरे एयरटाइट कंटेनर में रखा जाता है। 
  • तरल नाइट्रोजन का उपयोग छोटे मस्से (Warts) का उपचार करने के लिए किया जाता है। 
  • हवाईजहाज और विशेष वाहनों के टायरों में साधारण हवा के स्थान पर नाइट्रोजन गैस भरी जाती है। 

 

नाइट्रोजन (Nitrogen) गैस की रोचक जानकारी 

  • नाइट्रोजन ब्रह्माण्ड में पांचवां सबसे अधिक मात्रा में पाया जाने वाला तत्व है। 
  • नाइट्रोजन पृथ्वी के वायुमंडल का लगभग 78% हिस्सा बनाती है, परन्तु नाइट्रोजन पृथ्वी पर 30वॉ सबसे अधिक मात्रा में पाया जाने वाला तत्व है। 
  • तरल नाइट्रोजन अत्यधिक ठंडी होती है, इसे छू लेने मात्र से त्वचा की कोशिकाएँ नस्ट हो जाती है, इसलिए इसका उपयोग सावधानी पूर्वक किया जाना चाहिए। 
  • नाइट्रोजन सभी प्राणियों और पौधो के लिए आवश्यक होती है,  हमारे शरीर में नाइट्रोजन प्रोटीन, एमिनो एसिड और डीएनए का एक महत्वपूर्ण हिस्सा होती है। इसके अलावा यह पौधो में पर्णहरित (Chlorophyll) के निर्माण लिए आवश्यक होती है। 
  • शरीर में  नाइट्रोजन की अधिकता से थाइराइड ग्रंथि में समस्याएं उत्पन्न हो जाती है और शरीर में विटामिन A की कमी हो जाती है।  

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!