गैलियम (Gallium) के गुण उपयोग और रोचक जानकारी Gallium in Hindi - GYAN OR JANKARI

Latest

Sunday, April 4, 2021

गैलियम (Gallium) के गुण उपयोग और रोचक जानकारी Gallium in Hindi

गैलियम (Gallium) के गुण उपयोग और रोचक जानकारी 


गैलियम (Gallium) धातु का परिचय 

गैलियम (Gallium) एक धातु है, तथा रासायनिक रूप से यह एक तत्व है, इसका वर्गीकरण अन्य धातु (Other Metal) के रूप में किया जाता है। गैलियम का घनत्व 5.91 ग्राम प्रति घन सेंटीमीटर होता है। इसका परमाणु भार 69.723 AMU, परमाणु संख्या 31 तथा सिंबल Ga होता है। इसके परमाणु में 31 इलेक्ट्रान, 31 प्रोटोन, 39 न्यूट्रॉन तथा 4 एनर्जी लेवल होते है। आवर्त सारणी (Periodic Table) में गैलियम, ग्रुप 13, पीरियड 4 और ब्लॉक P में स्थित होता है। सामान्य तापमान (20 डिग्री सेल्सियस) पर गैलियम ठोस अवस्था में पाया जाता है। गैलियम का गलनांक (पिघलने का तापमान) 29.76 डिग्री सेल्सियस (85.57 डिग्री फेरेनाइट) और इसका क्वथनांक (उबलने का तापमान) 2204 डिग्री सेल्सियस (3999 डिग्री फेरेनाइट) होता है, इससे अधिक तापमान पर गैलियम गैस अवस्था में पाया जाता है।

गैलियम धातु की खोज फ्रेंच केमिस्ट पॉल-एमिल लेकॉक दी बॉइसबाउड्रान (Paul-Emile Lecoq de Boisbaudran) ने 1875 में की थी ।


Gallium-ke-gun, Gallium-ke-upyog, Gallium-ki-Jankari, Gallium-in-Hindi, Gallium-information-in-Hindi, Gallium-uses-in-Hindi, गैलियम-के-गुण, गैलियम-के-उपयोग, गैलियम-की-जानकारी
Gallium in Hindi

गैलियम (Gallium) के भौतिक और रासायनिक गुण 

Gallium-ke-upyog, Gallium-ki-Jankari, Gallium-in-Hindi, Gallium-information-in-Hindi, Gallium-uses-in-Hindi, गैलियम-के-गुण, गैलियम-के-उपयोग, गैलियम-की-जानकारी
Gallium Properties in Hindi

  • गैलियम सिल्वर-सफ़ेद रंग की चमकदार धातु होती है। 
  • गैलियम अत्यंत नर्म और भंगुर धातु होती है, जो आसानी से टूट जाती है, तथा इसे साधारण चाकू से भी काटा जा सकता है। 
  • गैलियम का गलनांक 29.76 डिग्री सेल्सियस होता है, जिसके कारण यह इंसानी हाथ की गर्मी से भी आसानी से पिघल जाता है।
  • गैलियम की तरल सिमा किसी भी अन्य धातु की तुलना में सबसे अधिक होती है, यह 29.76 डिग्री सेल्सियस से 2204 डिग्री सेल्सियस की तापमान सीमा के मध्य तरल अवस्था में ही रहता है।
  • गैलियम को बड़ी आसानी से सुपरकूल किया जा सकता है। सुपरकुलिंग का अर्थ है किसी पदार्थ को ठोस अवस्था में लाये बिना तरल अवस्था में ही उसे उसके गलनांक (Melting Point) से अत्यधिक कम तापमान पर ठंडा करना। 
  • गैलियम रासायनिक रूप से सक्रीय तत्व है, यह उच्च तापमान पर लगभग सभी अधातुओं से प्रतिक्रिया करता है। 
  • गैलियम एसिड और क्षार दोनों से बड़ी आसानी से प्रतिक्रिया करता है।
  • गैलियम को अत्यधिक ठंडा करके ज़माने पर इसके आयतन में वृद्धि हो जाती है।
  • गैलियम आर्सेनाइड बिजली से सीधे लेजर रौशनी उत्पन्न कर सकता है।    
  • गैलियम अधिकांश धातुओं से आसानी से मिश्रधातु बनाता है। 


गैलियम (Gallium) धातु के उपयोग 

  • गैलियम का उपयोग हाई स्पीड सेमीकंडक्टर्स में किया जाता है, यह कई सेमीकंडक्टर्स का एक महत्वपूर्ण घटक होता है, तथा यह इलेक्ट्रॉनिक्स उद्योग में सिलिकॉन का एक विकल्प होता है।
  • गैलियम का उपयोग लाल और नीली LED में प्रकाश उत्सर्जक डायोड के रूप में किया जाता है। 
  • गैलियम की तरल सिमा सभी धातुओं में सबसे अधिक होती है, तथा इसका उच्च क्वथनांक (Boiling Point) होता है, इसलिए इसका उपयोग उच्च तापमान मापने वाले थर्मामीटर में किया जाता है।  
  • गैलियम का उपयोग ऐसे सोलर सेल के निर्माण में किया जाता है जिनका उपयोग अंतरिक्ष यान और और उपग्रहों में किया जाता है। 
  • गैलियम नाइट्राइड भी एक सेमीकंडक्टर होता है, इसका उपयोग कंप्यूटर, मोबाइल फोन, ब्लू रे तकनीक, हरे और नीले LED, तथा प्रेशर सेंसर स्विच में किया जाता है। 
  •  गैलियम का उपयोग चीनी मिटटी के बर्तनों और कांच पर अत्यधिक परावर्तक सतह बनाने के लिए किया जाता है। 
  • गैलियम का उपयोग कम पिघलने वाली मिश्र धातुओं को बनाने में किया जाता है। 
  • परमाणु हथियारों में प्लूटोनियम को स्थिर रखने के लिए गैलियम मिश्रधातुओं का प्रयोग किया जाता है।   


गैलियम (Gallium) की रोचक जानकारी 

  • पृथ्वी की पपड़ी में गैलियम 35 वॉ सबसे प्रचुर तत्व है। 
  • गैलियम मुख्य रूप से ज़िंक, एलुमिनियम और कॉपर के अयस्कों के साथ पाया जाता है। 
  • गैलियम विषाक्त नहीं होता तथा यह प्राणियों और पौधों के द्वारा उपयोग भी  नहीं किया जाता।  
  • इटली में स्थित गैलियम न्यूट्रिनो वेधशाला (Gallium Neutrino Observatory) में सूर्य के अंदर नाभिकीय संलयन प्रक्रिया के दौरान उत्पन्न होने वाले न्यूट्रिनो नामक कणों का अध्ययन करने के लिए बड़ी मात्रा में गैलियम ट्राईक्लोराइड (GaCl3) को इखट्टा किया गया है। 
  • गैलियम सूक्ष्म मात्रा में हमारे शरीर में पाया जाता है, एक वयस्क व्यक्ति के शरीर में लगभग 0.7 मिलीग्राम गैलियम उपस्थित होता है।  
  • गैलियम के यौगिक स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकते है, जिसके कारण त्वचा पर लाल चकते तथा लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण में कमी हो सकती है।   


No comments:

Post a Comment