रुबिडीयम (Rubidium) धातु के गुण उपयोग और रोचक जानकारी Rubidium in Hindi - GYAN OR JANKARI

Latest

Sunday, July 11, 2021

रुबिडीयम (Rubidium) धातु के गुण उपयोग और रोचक जानकारी Rubidium in Hindi

 रुबिडीयम (Rubidium) धातु के गुण उपयोग और रोचक जानकारी 


रुबिडीयम (Rubidium) धातु का परिचय 

रुबिडीयम (Rubidium) एक धातु है, इसका वर्गीकरण अल्कली मेटल (Alkali Metal) के रूप में किया जाता है, तथा रासायनिक रूप से यह एक तत्व है। रुबिडीयम का घनत्व 1.53 ग्राम प्रति घन सेंटीमीटर होता है। सामान्य तापमान पर रुबिडीयम ठोस अवस्था में पाया जाता है, इसका गलनांक (पिघलने का तापमान) 39.3 डिग्री सेल्सियस (102.74 डिग्री फेरेनाइट) और इसका क्वथनांक (उबलने का तापमान) 688 डिग्री सेल्सियस (1270 डिग्री फेरेनाइट) होता है, तथा इससे अधिक तापमान पर रुबिडीयम-धातु गैस अवस्था में पायी जाती है। रुबिडीयम का परमाणु भार 85.4678 amu, परमाणु संख्या 37 तथा इसका परमाणु सिंबल (Rb) होता है। आवर्त सारणी (Periodic Table) में रोडियम, ग्रुप 1, पीरियड 5 और ब्लॉक (S) में स्थित होता है,  इसके परमाणु में 37 इलेक्ट्रान, 37 प्रोटोन, 48 न्यूट्रॉन तथा 5 एनर्जी लेवल होते है।  

रुबिडीयम धातु की खोज जर्मन केमिस्ट रॉबर्ट बुन्सेन और गुस्तेव किर्चोफ (Robert Bunsen and Gustav Kirchhoff) ने 1861 में की थी।


Rubidium-ke-gun, Rubidium-ke-upyog, Rubidium-ki-Jankari, Rubidium-Kya-Hai, Rubidium-in-Hindi, Rubidium-information-in-Hindi, Rubidium-uses-in-Hindi, रुबिडीयम-के-गुण, रुबिडीयम-के-उपयोग, रुबिडीयम-की-जानकारी
Rubidium Metal in Hindi

👉आवर्त सारणी के सभी तत्वों की हिंदी में विस्तृत जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें,  (Click here for detailed information on Periodic Table Elements in Hindi)


रुबिडीयम (Rubidium) धातु के गुण 

Rubidium-ke-gun, Rubidium-ke-upyog, Rubidium-ki-Jankari, Rubidium-Kya-Hai, Rubidium-in-Hindi, Rubidium-information-in-Hindi, Rubidium-uses-in-Hindi, रुबिडीयम-के-गुण, रुबिडीयम-के-उपयोग, रुबिडीयम-की-जानकारी
Rubidium Metal Properties in Hindi

  • रूबिडीयम सिल्वर-सफ़ेद रंग की नर्म धातु होती है। 
  • रूबिडीयम रासायनिक रूप से बहुत सक्रीय तत्व है, इसलिए इसे काँच के पात्र के भीतर वैक्यूम में या केरोसिन में डुबाकर स्टोर किया जाता है। 
  • रूबिडीयम धातु हवा में उपस्थित ऑक्सीजन से प्रतिक्रिया करके अचानक प्रज्वलित हो जाती है, तथा इससे पिले-बैंगनी रंग की लौ निकलती है। 
  • पानी के संपर्क में आने पर रूबिडीयम हिंसक प्रतिक्रिया करता है, जिससे इसमें तुरंत ही विस्फोट हो जाता है। इसके अलावा यह बर्फ से भी हिंसक प्रतिक्रिया करता है जिससे विस्फोट हो जाता है। 
  • रूबिडीयम हैलोजन तत्वों (फ्लोरीन, क्लोरीन, ब्रोमीन और आयोडीन) के साथ भी हिंसक प्रतिक्रिया करता है। 
  • रूबिडीयम कुछ सबसे अधिक विधुत धनात्मक (Electropositive) तथा क्षारीय तत्वों में से एक होता है। 
  • रूबिडीयम पारा के साथ मिलकर अमलगम बनाता है।
  • यह आसानी से आयनित हो जाता है।  
  • रूबिडीयम धातु विषैला नहीं होता है। 


रुबिडीयम (Rubidium) धातु के उपयोग 

  • पटाखों में बैंगनी रंग की रौशनी के लिए रूबिडीयम नाइट्रेट का उपयोग किया जाता है। 
  • रूबिडीयम का उपयोग ब्रेन ट्यूमर का पता लगाने में किया जाता है, यह हल्का रेडियोएक्टिव होता है इसलिए यह ट्यूमर के उत्तकों में जमा हो जाता है, परन्तु सामान्य उत्तको में नहीं। 
  • रूबिडीयम आसानी से आयनित हो जाता है, इसलिए इसका उपयोग अंतरिक्ष यान के आयन इंजिन में किया जा सकता है, परन्तु यह सीजियम की तुलना में कम प्रभावी होता है इसलिए इसके स्थान पर सीजियम का प्रयोग अधिक किया जाता है। 
  • रूबिडीयम का प्रयोग विशेष प्रकार के कांच के उत्पादन में किया जाता है। 
  • रूबिडीयम का उपयोग अत्यंत सटीक परमाणु घड़ियाँ बनाने में किया जाता है, इन घड़ियों का उपयोग अत्यंत विशिष्ट उद्देश्यों के लिए किया जाता है। 
  • वैक्यूम ट्यूब्स से ऑक्सीजन को हटाने के लिए भी रूबिडीयम का प्रयोग किया जाता है। 
  • रुबिडियम धातु का उच्च मुल्य और उत्पादन में अनिश्चितता के कारण इसके बहुत अधिक व्यावसायिक उपयोग नहीं है। 


रुबिडीयम (Rubidium) धातु की रोचक जानकारी 

  • पृथ्वी की पपड़ी में रूबिडीयम 22वॉ  सबसे प्रचुर तत्व है। 
  • रूबिडीयम रासायनिक रूप से पौटेशियम के समान होता है, इसलिए हम इसे भोजन से अल्प मात्रा में अवशोषित करते है, एक व्यस्क व्यक्ति के शरीर में लगभग आधा ग्राम रूबिडीयम पाया जाता है।  
  • रुबिडियम धातु को पौटेशियम और सीजियम के उत्पादन के दौरान एक उप-उत्पाद के रूप में प्राप्त किया जाता है। 
  • रुबिडियम का गलनांक केवल 39 डिग्री सेल्सियस होता है, इसलिए किसी गर्म दिन या सूरज की धुप में भी यह आसानी से पिघल जाता है। 
  • रुबिडियम के रेड़ियोआइसोटोप Rb-87 का आधा जीवन (Half Life) 48.8 अरब वर्ष है, जो ब्रह्माण्ड की अनुमानित आयु से भी लगभग तीन गुना अधिक है। 

No comments:

Post a Comment