पोटैशियम हाइड्रोऑक्साइड के गुण उपयोग जानकारी Potassium Hydroxide in Hindi

पोटैशियम हाइड्रोऑक्साइड के गुण उपयोग और अन्य जानकारी Potassium Hydroxide in Hindi

पोटेशियम हाइड्रॉक्साइड क्या है (What is Potassium Hydroxide)

पोटेशियम हाइड्रॉक्साइड एक अकार्बनिक यौगिक है, जिसका रासायनिक सूत्र KOH है। इसे आमतौर पर कास्टिक पोटाश, लाई, और पोटाश लाई के नाम से भी जाना जाता है। यह एक सफ़ेद क्रिस्टलीय ठोस पदार्थ होता है। पोटेशियम हाइड्रॉक्साइड क्षार धातु हाइड्रॉक्साइड से बना है, जो एक बहुत ही प्रबल क्षार धातु है। जलीय रूप में इसका स्वरूप स्पष्ट विलयन जैसा होता है। अपने ठोस रूप में, KOH सफेद से लेकर थोड़ी पीली गांठ, गुच्छे, छर्रों या छड़ के रूप में मौजूद हो सकता है। पोटेशियम हाइड्रॉक्साइड कुछ सबसे प्रबल क्षारों में से एक होता है, और इसके इस गुण के कारण, इसके कई औद्योगिक और साथ ही दैनिक उपयोग हैं।

potassium-hydroxide-in-hindi, potassium-hydroxide-properties-in-hindi, potassium-hydroxide-uses-in-hindi, what-is-potassium-hydroxide-in-hindi, पोटैशियम-हाइड्रोऑक्साइड-क्या-है, पोटैशियम-हाइड्रोऑक्साइड-के-गुण, पोटैशियम-हाइड्रोऑक्साइड-के-उपयोग, पोटैशियम-हाइड्रोऑक्साइड-की-जानकारी,

पोटेशियम हाइड्रॉक्साइड के गुण (Properties of Potassium Hydroxide in Hindi)

  • पोटेशियम हाइड्रॉक्साइड एक गंधहीन, सफेद या थोड़ा पीला, परतदार या गांठदार ठोस पदार्थ होता है।
  • इसका घनत्व 2.12 ग्राम प्रति घन सेंटीमीटर होता है।
  • सामान्य तापमान पर पोटेशियम हाइड्रॉक्साइड ठोस अवस्था में पाया जाता है, इसका गलनांक (Melting Point) 360 डिग्री सेल्सियस और इसका क्वथनांक (Boiling Point) 1327 डिग्री सेल्सियस होता है।
  • यह जल, एलकोहॉल और ग्लिसरॉल में घुलनशील होता है। इसे जल में घोलने पर एक्सोथर्मिक रिएक्शन होता है जिससे बहुत अधिक गर्मी निकलती है और इससे जलीय मिश्रण का तापमान बहुत अधिक बढ़ जाता है।
  • पोटेशियम हाइड्रॉक्साइड ईथर में अल्प घुलनशील होता है।
  • पोटेशियम हाइड्रॉक्साइड अत्यंत हाइग्रोस्कोपीक होता है, अर्ताथ यह अपने आस-पास के वातावरण से नमी को अवशोषित कर लेता है।
  • पोटेशियम हाइड्रॉक्साइड उच्च तापमान पर भी आसानी से निर्जलीकृत नहीं होता है।
  • व्यावसायिक रूप से उपयोग किया जाने वाला पोटैशियम हाइड्रोऑक्साइड 90 प्रतिशत तक शुद्ध होता है तथा शेष जल और कार्बोनेट होते है।
  • यह ऊष्मीय रूप से अत्यंत स्थिर है तथा उच्च तापमान पर भी विघटित नहीं होता है।
  • यह पानी में घुलकर प्रबल क्षारीय, जलीय KOH विलयन बनाता है जिसे पोटैशियम लाइ कहा जाता है।
  • यह विभिन्न प्रकार के पोटेशियम लवण बनाने के लिए एसिड के साथ आसानी से प्रतिक्रिया करता है, जिसका उद्योग में कई उपयोग हैं।
  • यह ज्वलनशील नहीं है लेकिन यह अत्यंत संक्षारक होता है।
 

पोटेशियम हाइड्रॉक्साइड के उपयोग (Uses of Potassium Hydroxide in Hindi)

  • पोटेशियम हाइड्रॉक्साइड का उपयोग तेल या वसा से साबुनीकरण साबुन बनाने के लिए किया जाता है, इससे बनने वाले साबुन सोडियम हाइड्रोऑक्साइड से बने साबुनों की तुलना में नरम और अधिक घुलनशील होते है।
  • सोडियम हाइड्रोऑक्साइड की तुलना में, पोटेशियम हाइड्रॉक्साइड घोल अधिक कंडक्टिव होता है, इसलिए इसका उपयोग कुछ क्षारीय बैटरियों में इलेक्ट्रोलाइट के रूप में किया जाता है।
  • पोटेशियम हाइड्रॉक्साइड का उपयोग खाद्य उत्पादों में गाढ़ा करने वाले एजेंट और स्टेबलाइजर के रूप में किया जाता है। इसका उपयोग केवल एक निश्चित मात्रा में ही किया जा सकता है ताकि खाद्य पदार्थ मानव उपभोग के लिए सुरक्षित रहे।
  • पोटेशियम हाइड्रॉक्साइड प्रबल क्षारीय होता है, तथा  कई एसिड के साथ प्रतिक्रिया करता है। इसलिए इसका उपयोग विभिन्न पोटेशियम लवण बनाने के लिए किया जाता है।
  • इसका उपयोग सफाई एजेंट के रूप में किया जाता है। इसका सबसे आम घरेलू उपयोग नाली साफ़ करने वाले रसायन के रूप में है, जिसे ड्रेन क्लीनर कहा जाता है।
  • इसका उपयोग उर्वरक उत्पादन और पेट्रोलियम के शोधन में किया जाता है।
  • कई तरह के सफाई करने वाले उत्पाद बनाने के लिए भी इसका उपयोग किया जाता है।
  • इसका उपयोग सेमीकंडक्टर चिप्स के उत्पादन में किया जाता है।
  • पोटेशियम हाइड्रॉक्साइड का उपयोग कवक की कुछ प्रजातियों की पहचान करने के लिए किया जाता है।
 

अन्य जानकारी (Other Information)

पोटेशियम हाइड्रॉक्साइड का उत्पादन पोटैशियम क्लोराइड सॉल्यूशन के इलेक्ट्रोलिसिस द्वारा किया जाता है, इस प्रक्रिया के दौरान उप-उत्पाद के रूप में क्लोरीन गैस का भी उत्पादन होता है।

 2 KCl + 2 H2O → 2 KOH + Cl2 + H2

पोटेशियम हाइड्रॉक्साइड एक मजबूत और संक्षारक क्षार  है, जो त्वचा के संपर्क में आने पर त्वचा और ऊतकों में प्रवेश कर सकता है, जिससे त्वचा में जलन और त्वचा को गंभीर नुकसान हो सकता है । पोटेशियम हाइड्रॉक्साइड सोल्युशन के साथ आंखों के संपर्क से आँखों में जलन, गंभीर जलन और यहां तक ​​कि अंधापन भी हो सकता है। इस संक्षारक क्षार को साँस के साथ लेना श्लेष्म झिल्ली और फेफड़ों को नुकसान पहुंचा सकता है। यदि निगल लिया जाता है, तो यह अत्यंत विषैला होता है और स्थायी ऊतक क्षति का कारण बन सकता है और अत्यंत घातक हो सकता है।

यह हवा से नमी को आसानी से अवशोषित कर लेता है और एक कास्टिक घोल पैदा करता है जो एल्यूमीनियम और जस्ता जैसी धातुओं को खराब कर सकता है।

 यह भी पढ़ें 
error: Content is protected !!