पोटैशियम परमैंगनेट (KMnO4) के गुण उपयोग और अन्य जानकारी KMnO4 in Hindi

पोटैशियम परमैंगनेट (KMnO4) के गुण उपयोग और अन्य जानकारी Potassium permanganate in Hindi

 

पोटैशियम परमैंगनेट (KMnO4) क्या है (What is Potassium Permanganate)

पोटैशियम परमैंगनेट एक अकार्बनिक यौगिक है। इसका रासायनिक सूत्र KMnO4 है। यह पोटेशियम केशन (K+) और परमैंगनेट आयन (MnO4-) से बना एक आयनिक यौगिक है, जिसमें मैंगनीज परमाणु तीन डबल बॉन्ड और एक सिंगल बॉन्ड के माध्यम से चार ऑक्सीजन परमाणुओं से जुड़ा होता है। इसे कोंडी क्रिस्टल या पोटाश के परमैंगनेट के नाम से भी जाना जाता है। रसायन विज्ञान में, यह एक ऑक्सीकरण एजेंट के रूप में प्रसिद्ध है। पोटैशियम परमैंगनेट (KMnO4) एक गहरे बैंगनी रंग का क्रिस्टलीय ठोस पदार्थ होता है, जो पानी में घुलनशील है। पोटेशियम परमैंगनेट एक प्रबल ऑक्सीकरण एजेंट है। इसका उपयोग कार्बनिक यौगिकों को ऑक्सीकरण करने या पानी कीटाणुरहित करने के लिए किया जा सकता है। इसका उपयोग आतिशबाजी के उत्पादन में भी किया जाता है।

potassium-permanganate-in-Hindi, potassium-permanganate-uses-in-Hindi, potassium-permanganate-properties-in-Hindi, पोटैशियम-परमैंगनेट-क्या-है, पोटैशियम-परमैंगनेट-के-गुण, पोटैशियम-परमैंगनेट-के-उपयोग, पोटैशियम-परमैंगनेट-के-स्वास्थ्य-प्रभाव, पोटैशियम-परमैंगनेट-की-जानकारी, kmno4-in-Hindi
पोटैशियम परमैंगनेट KMnO4

पोटैशियम परमैंगनेट (KMnO4) के गुण  (Properties of Potassium Permanganate in Hindi)

  • पोटैशियम परमैंगनेट (KMnO4) एक गंधहीन तथा गहरे बैंगनी रंग का क्रिस्टलीय ठोस पदार्थ होता है। 
  • इसका घनत्व 2.7 ग्राम प्रति घन सेंटीमीटर होता है। 
  • सामान्य तापमान पर पोटैशियम परमैंगनेट (KMnO4) ठोस अवस्था में पाया जाता है, इसका गलनांक (Melting Point) 240 डिग्री सेल्सियस होता है। अधिक गर्म करने पर यह पोटेशियम मैंगनेट, मैंगनीज डाइऑक्साइड और ऑक्सीजन गैस में विघटित हो जाता है।
  • पोटैशियम परमैंगनेट में शक्तिशाली  एंटीसेप्टिक गुण होते हैं।
  • पोटैशियम परमैंगनेट एक प्रबल ऑक्सीकारक एजेंट होता है। 
  • पोटेशियम परमैंगनेट पानी, एसीटोन, मेथनॉल, पाइरीडीन, एसिटिक एसिड, ट्राइफ्लोरोएसेटिक एसिड, एसिटिक एनहाइड्राइड, बेंजोनिट्राइल और सल्फोलेन में घुलनशील है। यह पानी में घुलकर एक विशिष्ट चमकीले बैंगनी, गहरे गुलाबी या मैजेंटा रंग का घोल बनता है।
  • पोटैशियम परमैंगनेट गैर-दहनशील होता है लेकिन दहनशील सामग्री के जलने को तेज करता है।
  • पोटैशियम परमैंगनेट तरल ज्वलनशील पदार्थों के संपर्क में आने से सहज प्रज्वलित हो सकता है।
  • यह सल्फ्यूरिक एसिड के साथ हिंसक रूप से प्रतिक्रिया करता है जिसके परिणामस्वरूप विस्फोट होता है।
  •  ग्लिसरीन पोटेशियम परमैंगनेट के संपर्क में आता है, परमैंगनेट आयन के ऑक्सीकरण गुण ग्लिसरीन के साथ काम करते हैं। ग्लिसरीन का ऑक्सीकरण बहुत ऊष्माक्षेपी होता है और कुछ सेकंड के बाद निकलने वाली गर्मी के कारण ग्लिसरीन भी प्रज्वलित हो जाता है और आग में फट जाता है और धुआं निकलता है।
  • ग्लिसरॉल या ग्लिसरीन  के साथ पोटैशियम परमैंगनेट की प्रतिक्रिया अत्यधिक एक्ज़ोथिर्मिक होती है, जिसके परिणामस्वरूप ग्लिसरीन प्रज्वलित हो जाती है, इससे एक तेज लौ के साथ कार्बन डाइऑक्साइड गैस और जल वाष्प निकलती है।

 

पोटैशियम परमैंगनेट (KMnO4) के उपयोग (Uses of Potassium Permanganate in Hindi)

  • पोटैशियम परमैंगनेट  KMnO4 एक मजबूत ऑक्सीडेंट है, जिसमें शक्तिशाली एंटीसेप्टिक गुण होते हैं इसलिए इसका उपयोग घावों, अल्सर, एक्जिमा, इम्पेटिगो, पेम्फिगस, सतही घाव, डर्मेटाइटिस, फंगल संक्रमण और अन्य त्वचा रोगों के इलाज के लिए किया जाता है
  • इसका उपयोग घावों को साफ करने के लिए किया जा सकता है। अल्सर और फोड़े जैसे गीले घावों को पोटेशियम परमैंगनेट के घोल से साफ किया जा सकता है। यह उपचार रोगाणुओं को मारता है और आगामी संक्रमण को रोकता है। यह फफोले को सुखाने में भी मदद करता है। इसके प्रयोग में सावधानी बरती जानी चाहिए और इसका उपयोग अत्यंत तनु विलयनों में ही किया जाना चाहिए, क्योंकि इस रसायन के अति प्रयोग से जलन हो सकती है।
  • जल उपचार उद्योग में पोटेशियम परमैंगनेट का व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है। यह एक “मैंगनीज ग्रीन्सैंड” फिल्टर के माध्यम से कुएं के पानी से आयरन और हाइड्रोजन सल्फाइड को हटाने के लिए एक पुनर्जनन रसायन के रूप में उपयोग किया जाता है। इसके अलावा ताजे पानी के संग्रह और उपचार प्रणालियों में ज़ेबरा मसल्स जैसे उपद्रव जीवों  नियंत्रित करने के लिए भी इसका उपयोग किया जाता है।
  • अपने मजबूत रंग और ऑक्सीकरण प्रकृति के कारण, पोटेशियम परमैंगनेट का उपयोग रसायन विज्ञान प्रयोगशालाओं में एक अभिकर्मक के रूप में किया जाता है।
  • पोटेशियम परमैंगनेट का उपयोग जलीय नमूने में कुल ऑक्सीकरण योग्य कार्बनिक पदार्थ को मात्रात्मक रूप से निर्धारित करने के लिए किया जा सकता है। निर्धारित मान को परमैंगनेट मान के रूप में जाना जाता है।
  • पोटैशियम परमैंगनेट  KMnO4 का उपयोग फलों और सब्जियों के संरक्षण में भी किया जाता है। पोटेशियम परमैंगनेट एथिलीन को अवशोषित करता है और इसे कार्बन डाईऑक्साइड CO2 और पानी में बदल देता है जिसके परिणामस्वरूप भंडारण वातावरण में CO2 सामग्री में वृद्धि होती है। इसके अलावा, कार्बन डाइऑक्साइड की सांद्रता में वृद्धि एथिलीन के संश्लेषण को अवरुद्ध करती है जो फलों और सब्जियों के लिए एक पकने वाली गैस है। इस प्रकार यह फल और सब्जियों के शेल्फ जीवन को बिना रेफ्रिजरेशन की आवश्यकता के 4 सप्ताह तक बढ़ा देता है।
  • कुछ शोधकर्ताओं के अनुसार फास्फोरस विषाक्तता के मामले में इसका उपयोग एंटीडोड  के रूप में किया जा सकता है। पोटेशियम परमैंगनेट फॉस्फोरस को फॉस्फोरिक एसिड और फॉस्फेट में ऑक्सीकृत करता है जो हानिरहित होता हैं।
  • पोटेशियम परमैंगनेट का उपयोग कपड़े और कागज के लिए ब्लीचिंग एजेंट के रूप में किया जा सकता है।

 

अन्य जानकारी (Other information)

  • पोटैशियम परमैंगनेट KMnO4 के एंटीसेप्टिक और चिकित्सीय उपयोगों के लिए, इसका उपयोग अत्यंत तनु विलयनों में ही किया जाना चाहिए। पोटेशियम परमैंगनेट उच्च सांद्रता में संक्षारक होता है, और त्वचा के संपर्क में आने पर जलन, लालिमा और यहां तक कि जलन भी हो सकती है। पोटेशियम परमैंगनेट की उच्च सांद्रता को निगलना बहुत खतरनाक हो सकता है, और पेट में दर्द, गले में जलन, हृदय पतन, गुर्दे की क्षति और यहां तक कि मृत्यु भी हो सकती है।
  • सांद्र पोटैशियम परमैंगनेट त्वचा और आंखों में जलन पैदा करता है। लंबे समय तक एक्सपोजर आंखों को स्थायी रूप से नुकसान पहुंचा सकता है।
  • अगर इसकी धूल में साँस ली जाती है, तो यह नाक और गले में जलन पैदा कर सकता है। खांसी, सांस की तकलीफ और फुफ्फुसीय एडिमा (फेफड़ों में तरल पदार्थ का निर्माण) के कारण फेफड़े भी प्रभावित हो सकते हैं।
  • पोटैशियम परमैंगनेट (KMnO4) औद्योगिक रूप से पोटेशियम मैंगनेट (K2MnO4) के ऑक्सीकरण द्वारा उत्पादित किया जाता है।
error: Content is protected !!